दूसरी वर्षगांठ पर फुरसतिया जी को भेंट

पिछले दो वर्षों में कानपुर नगर में बिजली की व्यवस्था बहुत गड़बड़ा गई है। लोग मनों पसीना बहा रहे है, बारम्बार नहा रहे है, उनका गुस्सा बढ़ रहा है,चक्का जाम का ग्राफ चढ़ रहा है,लाइन मैन हैरान है, बिजली इंजिनियर परेशान है जब विद्युत का इतना भन्डार है तो आखिर इस कमी का क्या आधार है। इन्क्वारीकमेटी बिठाई गई उसमें मुफ्त की दावतें उड़ाई गई, बातचीत चली दिनरात पर सुधरे न हालात।

अधिकारियों का कहना था पावर हाउस से लगातार बिजली आती है पर लाइनों में जाते ही जाने कैसे गायब हो जाती है। कारण का नहीं भान, दुविधा भई महान्, सकते में पड़ी है जान। कृपया आप ही कुछ इंसाफ करें, ले देकर हम को माफ़ करें।

यह कारनामा किसी साधारण व्यक्ति का नहीं है, अवश्य ही कोई दूसरे ग्रह का प्राणी है, जो यह चमत्कार दिखा रहा है और व्यवस्था को धता बता रहा है— ” कमेटी ने यह रिपोर्ट दे दी काफी सस्ते में और मामला गया ठन्डे बस्ते में।

हमारे बिद्युतअधिकारी मित्र ने जब एक अंग्रेज़ी फिल्म से उड़ाया हुया यह UFO का नया फलसफा हम पर झाड़ा तो हमने हंसकर उन्हें लताड़ा— “ काहे इतनी ऊँची उड़ा रहे हो, बेकार हमें उल्लू बना रहे हो। ज़रूर भूमिगत लाइन किसी औद्योगिक इलाके में बिछवा दी होगी और चुपचाप जेबें भर, सारी बिजली वहाँ भिजवा दी होगी। दूसरे ग्रह वालों को कहाँ इतनी फुरसत कि वो कानपुर शहर की बिजली गायब करें।

मित्र इन्कार में ज़ोर ज़ोर से मुन्डी हिला रहे थे और फुरसत शब्द पर अटके हमारे भेजे में हज़ारों बल्ब जगमगा रहे थे। क्योंकि अब जाकर हम समझे थे कि —-

फुरसतिया जी के अधिकतर लेख 440 वोल्ट की क्षमता कहाँ से पाते है!!!!

Advertisements

5 responses to “दूसरी वर्षगांठ पर फुरसतिया जी को भेंट

  1. बिजली का हाल तो यहां दिल्ली में भी वैसा ही है। 😦
    मगर यहां तो बड़े से बड़े राजनेता रहते हैं सारी बिजली वहीं चली जाती होगी ।
    फुरसतिया जी तो लगता है कि अपने लैपटाप की हार्डडिस्क में सारे आईडिया स्टोर करते रहते हैं, बिजली हो न हो एक से एक धांसू पोस्ट लगातार लैपटाप के पिटारे से निकाल भेजते रहते हैं। 😉

  2. रत्नाजी,ये तो ११००० वोल्ट का झटका है! बहुत-बहुत धन्यवाद। अब हम इसे अपने मन के ट्रांसफारमर में डाल के ४४० वोल्ट की सप्लाई शुरू करेंगे।

  3. बहुत सही भेंट दी आपने फ़ुरसतिया जी को.वाह !

  4. हम्म,… तो ये फुरसतिया जी हैं, अभी मै समझा भारत में बिजली संकट क्यों है। वैसे प्रत्यक्षा जी का पावर ग्रिड फुरसतिया जी से बिजली वापस क्यों नही खरीद लेता।

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s